Close

Hareli Tihar was celebrated with Enthusiasm..

Publish Date : 05/08/2019

महासमुंद 01 अगस्त 2019 जिले के ग्राम पंचायतों एवं विकासखंड मुख्यालयों सहित जिला मुख्यालय के शासकीय आदर्श उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में जिला स्तरीय हरेली तिहार छत्तीसगढ़ी परम्परा के साथ धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर जिला स्तरीय हरेली तिहार के मुख्य अतिथि के रूप में नगरी विधानसभा क्षेत्र की विधायक एवं उपाध्यक्ष मध्यक्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण डॉण् श्रीमती लक्ष्मी ध्रुव उपस्थित थी। कार्यक्रम की अध्यक्षता महासमुंद विधायक श्री विनोद चंद्राकर ने किया। इस अवसर पर विशेष अतिथि के रूप में जनपद पंचायत महासमुंद के अध्यक्ष श्री धरमदास महिलांगए नगर पालिका उपाध्यक्ष श्रीमती कौशिल्या बंसलए जिला पंचायत सदस्य श्री लक्ष्मण पटेलए भारत स्काउट गाईड के जिलाध्यक्ष श्री दाउलाल चंद्राकर सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे। कार्यक्रम में प्रभारी कलेक्टर एवं जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री ऋतुराज रघुवंशीए पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार सिंह वनमंडलाधिकारी श्री आलोक तिवारीए अपर कलेक्टर श्री शरीफ मोहम्मद खान सहित जिला स्तरीय अधिकारी एवं कर्मचारीगण विशेष रूप से उपस्थित थे। 
मुख्य अतिथि एवं अन्य अतिथियों द्वारा जिला स्तरीय हरेली तिहार में कृषि औजार नागरए कुदारीए गैतीए रापाए साबरए भौसलाए टंगली आदि की विधि.विधान से पूजा कर हरेली तिहार का कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस बार हरेली तिहार के उत्साह और उमंग के माध्यम से छत्तीसगढ़ की संस्कृति की इंद्रधनुषी छटा से सराबोर रहा। कार्यक्रम स्थल पर महिला स्व सहायता समूहों एवं महिला बाल विकास विभाग द्वारा छत्तीसगढ़ी व्यंजनों का स्टाल लगाया गया था। हरेली तिहार के अवसर पर खेल.कूद के अंतर्गत गेड़ी दौडए खो.खोए कबड्डीए फुगडीए बिल्लस आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। काव्यांश साहित्य एवं कलापथक संस्थान द्वारा छत्तीसगढ़ के प्राचीन दुर्लभ वाद्ययंत्रों की प्रदर्शनी भी लगाई गई थीए जिसका लोगों ने अवलोकन किया। आम नागरिकों के लिए हरेली तिहार से संबंधित सेल्फी जोन भी बनाए गए थेए जहां नागरिकों ने उत्साह के साथ सामूहिक सेल्फी लिया।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि डॉ श्रीमती लक्ष्मी ध्रुव ने जिले वासियों को हरेली तिहार की शुभाकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि हरेली तिहार प्रदेश का प्राचीन तिहार हैए इसे संवर्धित करने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री भूपेश के मंशानुरूप पूरे प्रदेश में इस तिहार को हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की सांस्कृतिकए अस्मिताए परम्परा को सामुदायिक सोच लाने के लिए तिहार एक मंच प्रदान करता हैए जिससे लोगों में जुड़ाव बना रहता है। श्रीमती ध्रुव ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने भी सुराजी गांव का सपना देखा थाए जिसे राज्य शासन पूरा करने के लिए अथक प्रयास कर रही है। इसे ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ के चार चिन्हारीए नरवाए गरवाए घुरूवा और बाड़ी योजना का क्रियान्वयन गांव. गांव तक किया जा रहा है। छत्तीसगढ़वासियों के भावनाओं को ध्यान में रखकर मुख्यमंत्री ने प्रदेश का पहला तिहार हरेलीए तीजाए कर्मा जयंतीए विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर अवकाश घोषित किया है। 
कार्यक्रम के अध्यक्षता करते हुए महासमुंद विधायक श्री विनोद चंद्राकर ने कहा कि हमारे छत्तीसगढ़ के संस्कृति को एक सूत्र में पिरोने का कार्य विभिन्न छत्तीसगढ़ी तिहार के माध्यम से किया जा रहा है। हरेली तिहार के दिन कृषि यंत्रों की पूजा.अर्चना करने की हमारी परम्परा रही हैए जिसे जीवंत बनाए रखने के लिए हरेली तिहार धूमधाम से मनाया जा रहा है। कार्यकम को श्री भागीरथी चंद्राकरए श्री आलोक चंद्राकर एवं श्रीमती कल्पना पटेल ने भी संबोधित किया।
हरेली तिहार के अवसर पर अतिथियों द्वारा हाई स्कूल परिसर में पौधरोपण कर हरियाली का संदेश दिया गया। उनके द्वारा दुर्लभ वाद्य यंत्रों एवं महिला स्व सहायता समूहों द्वारा लगाए गए छत्तीसगढ़ी व्यंजनों का अवलोकन किया गया। इस अवसर पर विभिन्न स्कूलोंए आश्रमए छात्रावासों के बच्चों द्वारा रंगारंग छत्तीसगढ़ी सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गई। इसी प्रकार विभिन्न छत्तीसगढ़ी पारम्परिक खेलों में प्रथम एवं द्वितीय स्थान प्राप्त करने प्रतिभागियों को प्रतीक चिन्ह देकर पुरस्कृत भी किया गया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में नागरिकगण उपस्थित थे।

hareli