कॉलेज में अभियान चलाकर जोड़े जायेंगे मतदाता

प्रकाशित तिथि : 10/08/2018

जिला विर्वाचन अधिकारी ने दिया विधानसभा आम निर्वाचन 2018 के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश  
रजिस्ट्रीकरण, सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, महाविद्यालयों के प्राचार्यगण एवं  नगरीय निकायों के सीएमओ ली वीडियों कांफ्रेेसिंग 
महासमुंद, 09 अगस्त 2018/ कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री हिमशिखर गुप्ता ने आज यहां वीडियों कांफ्रेसिंग के माध्यम से रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, महाविद्यालयों के प्राचार्यगण एवं सभी नगरीय निकायों के सीएमओ को आगामी विधानसभा आम निर्वाचन 2018 से संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि सेवा निर्वाचकों का पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत मतदाता सूची का प्रारंभिक प्रकाशन 10 अगस्त 2018 तक किया जाएगा। संबंधित रिकार्ड आफिसर से फार्म प्राप्त करने की तिथि एवं एक्सएमएल फाईल तैयार करना व अपलोड 10 अगस्त से 5 सितम्बर 2018 तक किया जाएगा। एक्सएमएल फाईल पर निराकरण एवं आवेदनों को वापस करने का कार्य 14 सितम्बर 2018 तक, सुधार किए गए एक्सएमएलफाईल को पुनः 21 सितम्बर 2018 तक जमा करना एवं ईआरओ द्वारा अंतिम आदेश पारित किया जाएगा। मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन 27 सितम्बर 2018 होगा। 
कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि आयोग के मंशानुरूप दिव्यांग मतदाताओं का मतदान केन्द्रवार भौतिक सत्यापन कर 1 जनवरी 2018 की स्थिति में जिन दिव्यांग मतदाता का नाम 18 वर्ष पूर्ण हो गया है उनका नाम मतदाता सूची में अनिवार्य रूप से जोड़ने की कारवाई किया जाना है। इस संबंध में जिले में उपलब्ध दिव्यांग व्यक्तियों की सूची आपको ई-मेल के माध्यम से प्रेषित की जा चुकी है। जिले के 18 से 19 वर्ष के नए मतदाता का नाम मतदाता सूची में जोड़ने हेतु जिले के सभी शासकीय एवं अशासकीय कॉलेजों में अभियान चलाकर जिन बच्चों का एक जनवरी 2018 की स्थिति में 18 वर्ष पूर्ण हो गए है, उन्हें फार्म-6 निःशुल्क उपलब्ध कराकर नाम जोड़ने हेतु कार्रवाई किया जाना है। इस समूह के मतदाताओं का प्रतिशत 90 प्रतिशत हर हाल में किया जाना है। इसके साथ ही प्रत्येक मतदान केन्द्र के युवा मतदाताओं को चिन्हांकित कर नाम जोड़ने, प्रत्येक मतदान केन्द्र के मतदाता सूची का शुद्धिकरण हेतु मृत मतदाता या अन्यत्र स्थानांतरित होकर हमेशा के लिए चले गये मतदाता, विवाह होकर अन्यत्र चले गये कन्याएं, एक व्यक्ति का दो बार मतदाता सूची में नाम हो ऐसे मतदाताओं को चिन्हांकित कर पंचनामा तैयार करते हुए नियमानुसार सावधानी बरतते हुए विलोपन की कार्रवाई करना सुनिश्चित करें। 
उन्होंने कहा कि डी-डुप्लीकेशन, एरर मतदाताओं का चिन्हांकन किया जाकर उनके शुद्धिकरण हेतु 20 सितम्बर के पूर्व अनिवार्य रूप से कर लिया जाए। डी-डुप्लीकेशन, एरर, मृत मतदाता इत्यादि का सत्यापन यथाशीघ्र कर लिया जाए तथा इसकी सूची तैयार कर ग्राम सभा की बैठक में पठन-पाठन कर अनुमोदन प्राप्त करने की कार्रवाई सुनिश्चित करें। जिला कलेक्टर ने फार्म-6,7,8 एवं 8क स्थानीय स्तर पर आवश्यकतानुसार मुद्रण कराने के निर्देश दिए है। ईपिक निर्माण एवं नए मतदाता की संख्या में जो अंतर है उसको तत्काल समानुपाती करने हेतु वेण्डर को 100 प्रतिशत ईपिक तैयार कर उपलब्ध कराने हेतु निर्देश दिए गए है। निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार प्रत्येक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी कुल मतदान केन्द्र का 10 से 15 प्रतिशत मतदान केन्द्रों का अनिवार्य रूप से भौतिक सत्यापन कर रिपोर्ट इस कार्यालय को उपलब्ध कराएंगे। विधानसभा निर्वाचन को ध्यान में रखते हुए दौरे में जाने के दौरान स्थापित मतदान केन्द्रों का अंदर एवं बाहर के भौगोलिक स्थिति का निरीक्षण कर लिया जाए एवं उसका प्रतिवेदन दो फोटोग्राफ सहित जिला निर्वाचन कार्यालय को भेजना सुनिश्चित करें। 
इसके अलावा पूर्व में भेजे गए रूट चार्ट का पुनः सत्यापन कर लिया जाए ताकि रास्ते में आवागमन के दौरान कोई नदी-नाले, पहुंच विहीन इत्यादि परेशानी तो नहीं है। उन्होंने पुलिस अधिकारियों के साथ सामंजस्य स्थापित कर जिले के क्रिटिकल, वर्नरलेबल मतदान केन्द्रों को चिन्हांकित कर प्लान तैयार कर क्रिटिकल, वर्नरलेबल होने का कारण भी स्पष्ट करते हुए प्रतिवेदन जिला निर्वाचन कार्यालय को भेजने को कहा है। उन्होंने कम्प्यूनिकेशन प्लान मतदान केन्द्रवार तैयार कर बी.एल.ओ., सुपरवाईजर एवं अभिहित अधिकारी का नाम, पदनाम एवं मोबाईल नंबर, बैंक का खाता नंबर, आई.एफ.एस कोट नंबर इत्यादि जानकारी के साथ तैयार कर जिला निर्वाचन कार्यालय को भेजने के निर्देश है। राजनैतिक दलों से बूथ लेवल एजेंट की नियुक्ति से संबंधित सूची उनके मोबाईल नंबर सहित प्राप्त करने के लिए कहा गया है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि दिव्यांग मतदाताओं के लिए हेल्प डेस्क तैयार कर लिया जाए। ऐसे मतदान केन्द्र जहां  5 से अधिक दिव्यांग मतदाता हो, वहां उनके लिए मूलभूत सुविधा जैसे-रैम्प इत्यादि का अनिवार्य रूप से निर्माण करा लिया जावे एवं प्राथमिकता क्रम में मतदान करने मंे सहयोग देंगे, अर्थात सामान्य मतदाता से पहले मतदान करने की सुविधा देना है। 
जिला निर्वाचन अधिकारी श्री हिमशिखर गुप्ता ने स्वीप के नोडल अधिकारी श्रीमती मालती तिवारी एवं श्री रेखराज शर्मा परियोजना अधिकारी से संपर्क कर प्रत्येक मतदान केन्द्र ग्राम पंचायत तहसीलों इत्यादि में नुक्कड़ नाटक, खेल कूद, रैली, इत्यादि के माध्यम से लोगों को जागरूक करने का कार्यक्रम आयोजित करने के लिए विशेष रूप से निर्देशित किया है। उन्होंने निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी एवं सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी प्रचार-प्रसार हेतु नगर पालिका, जनपद पंचायत से सहयोग लेकर रेल्वे स्टेशन, बस स्टेशन, सार्वजनिक स्थानों में फ्लेक्सी इत्यादि के माध्यम से प्रचार-प्रसार करेंगे। तृतीय लिंग के मतदाताओं का चिन्हांकन कर मतदाता सूची में अनिवार्य रूप से नाम जुड़वाया जाए। मतदान केन्द्रों के सामग्री वितरण जिले में अंतिम रूप से दो स्थानों में किया जाएगा। जिसमें विधानसभा सरायपाली एवं बसना का तहसील मुख्यालय सरायपाली से एवं वापसी पिटियाझर मंडी प्रांगण महासमुंद में होगा एवं खल्लारी एवं महासमुंद का वितरण एवं वापसी महासमुंद से ही होगा। तद्नुसार अंतिम रूप से रूट चार्ट तैयार करने के निर्देश दिए गए है। जिला उप निर्वाचन अधिकारी श्री बी.एस. मरकाम ने बताया कि एफएलसी का कार्य अंतिम चरण में चल रहा है, जो शीघ्र पूरा कर लिया जाएगा।    

 

कलेक्टर ने ली वीसी कॉलेज प्रिंसिपल के साथ